Skip to main content

भारत सरकार की मुख्य योजनाये

भारत सरकार के द्वारा देश मे देश के विकास और नागरिको के हितों की रक्षा के लिये अनेक योजनाये  चलायी गयी है । देश के नागरिकों को उन योजनाओं को जानकर उनमे अपनी भागीदारी सुनिश्चित करनी चाहिये। तथा उनका लाभ लेकर देश के विकास में अपना सहयोग करना चाहिय साथ ही इस बात का भी ध्यान रखना चाहिय के कोई गैर पत्र व्यक्ति इन योजनाओं का दुरुपयोग तो नही कर रहा साथ ही योजनाओ के लाभ को जरूरत मंद व्यक्ति तक पहुंचने की जिम्मेदारी सरकार के साथ देश के सभी नागरिकों की भी है। आओ जानते है  कुछ जरूरी योजनाओ के बारे में -
1) स्वच्छ भारत अभियान- प्रधानमंत्री ने 24 सितंबर 2014 को स्वच्छ भारत अभियान को मंजूरी दी , स्वच्छ भारत अभियान को औपचारिक रुप से महात्मा गांधी जी की जयंती पर 2 अक्टूबर 2014 को शुरू किया गया.इसके तहत 2019 तक यानी महात्मा गांधी की 150वीं जयंती तक भारत को स्वच्छ बनाने का लक्ष्‍य किया गया है. जिसमे देश को खुले में शौच मुक्त करना और हर घर मे अपना शौचालय मुख्य लक्ष्य है। साथ ही सार्वजनिक स्थानों और अन्य स्थलों पर स्वच्छ्ता भी इसका एक हिस्सा है।
2) प्रधानमंत्री जन धन योजना — प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 28 अगस्त 2014 को प्रधानमंत्री जन धन योजना की शुरुआत की. इसकी घोषणा उन्होंने 15 अगस्त 2014 को अपने पहले स्वतंत्रता दिवस भाषण में की थी.इसके तहत हर नागरिक को बैंक से जोड़ने का उद्देश्य है ताकि देश के हर नागरिक का खाता बैंक में हो सके। इससे वो अपनी छोटी छोटी बचत को सुरक्षित रख सकते है।
3) डिजिटल इंडिया – प्रधानमंत्री की सबसे महत्‍वाकांक्षी योजनाओं में से एक ‘डिजिटल इंडिया’ की शुरुआत 21 अगस्त 2014 को हुई. इसके तहत सभी ग्राम पंचायतों को तथा सरकारी योजनाओं को इंटरनेट से जोड़ना है। इससे काम मे पारदर्शिता आएगी। तथा इंटरनेट को आम जनता तक पहुचाने में सहायता मिलेगी जिससे सरकारी योजनाओं और कार्यो पर उनकी नजर रहेगी। साथ ही इस माध्य्म से आम नागरिक अपनी समस्या तथा शिकायत को सरकार और प्रशासन तक पहुँचा सकते है।
4) मेक इन इंडिया –यह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा दिया गया एक नारा है, इसके तहत भारत में वैश्विक निवेश और विनिर्माण को आकर्षित करने की योजना बनाई गई, जिसे 25 सितंबर 2014 को लॉन्‍च किया गया. इसका उद्देश्य देश मे उधोगो को बढ़ाकर रोज़गार को बढ़ाना तथा देश की अर्थव्यवस्था को मजबूत करना है।
5) प्रधानमंत्री उज्‍जवला योजना– इसकी शुरुआत प्रधानमंत्री ने 1 मई 2016 को हुई थी इस उज्ज्वला योजना के तहत  BPL परिवार की महिलाओं को मुफ्त रसोई गैस कनेक्‍शन दिया गया।  प्रधानमंत्री ने घोषणा की है कि आने वाले में तीन वर्षों में 5 करोड़ गरीब परिवारों को जहां लकड़ी का चूल्हा जलता है, मुफ्त गैस कनेक्शन दिया जाएगा. इसके द्वारा दूर दराज के गाँव तक गैस को पहुचाने का लक्ष्य है जिससे महिलाओ को धुँए की जिंदगी से निजात मिले साथ ही पर्यावरण को भी सुरक्षित रखने में सहयोग मिले।
6) सांसद आदर्श ग्राम योजना– प्रधानमंत्री मोदी ने 11 अक्टूबर 2014 को सांसद आदर्श ग्राम योजना की शुरुआत की.इस योजना के मुताबिक, हर सांसद को साल 2019 तक तीन गांवों को विकसित करना होगा। इसके द्वारा धीरे धीरे गांव को आदर्श ग्राम के रूप में विकसित करना है। जिसमे सभी मूलभूत सुविधाएं मुहैया कराना लक्ष्य है।
7) अटल पेंशन योजना-  देश की युवा पीढ़ी को ध्‍यान में रखकर तैयार की गई मोदी सरकार की यह एक और अहम योजना है. जिसका उद्देश्य देश के नागरिकों को पेंशन योजना के माध्यम से भविष्य को सुरक्षित करना है ताकि एक उम्र के बाद भी एक निश्चय आय सुनिश्चित की जा सके।
8) बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ- प्रधानमंत्री ने 22 जनवरी 2015 को हरियाणा के पानीपत से इस योजना की शुरुआत की.100 करोड़ रुपये की शुरुआती राशि‍ के साथ यह योजना देशभर के 100 जिलों में शुरू की गई. इसके माध्य्म से देश मे लड़कियों को सम्मान का दर्जा दिलाना और देश मे कन्या भूर्ण हत्या जैसे कुकृत्यों पर लगाम लगाना है। तथा उनका भविष्य सुनिश्चित करना है।
9) प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना- गरीबी के खिलाफ लड़ाई और बेहतर रोजगार अवसर के लिए देश के लोगों खासकर युवाओं को कुशल बनाने के लिए इस योजना की शुरुआत की गई.15 जुलाई 2015 को इसकी शुरुआत करते हुए पीएम ने कहा, ‘अगर देश के लोगों की क्षमता को समुचित और बदलते समय की आवश्यकता के अनुसार कौशल का प्रशिक्षण दे कर निखारा जाता है तो भारत के पास दुनिया को 4 से 5 करोड़ कार्यबल उपलब्ध करवाने की क्षमता होगी.ये देश के युवाओं को आत्मनिर्भर बनाने का प्रयास है ताकि वो खुद को रोजगार पाकर और को भी रोजगार देने में सक्षम हो।
10) स्टैंड अप इंडिया स्कीम– इसकी शुरुआत 5 अप्रैल 2016 को की गई. इस योजना के लिए जिसमे 10 लाख रुपये से 100 लाख रुपये तक की सीमा में ऋणों के लिए अनुसूचित जाति/अनुसूचित जन जाति और महिलाओं के बीच उद्यमशीलता को प्रोत्साहन दिया जाता है तथा उन्हें समाज के बाकी तबके के बराबर खड़े होने का अवसर है ताकि वो अपनी क्षमता और योगयता से देश के विकास में अपनी भूमिका निभा सके।
11) सुकन्‍या समृद्धि योजना- इस योजना की शुरुआत ने 22 जनवरी 2015 को हुई यह ‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ’ योजना का ही विस्‍तार है, जिसका मकसद देश में बेटियों के लिए सकारात्‍मक माहौल तैयार करना है. तथा उनके भविष्य के लिये उनकी शिक्षा और विवाह के लिये बचत को बढ़ावा देना उद्देश्य है।
12) मुद्रा बैंक योजना- प्रधानमंत्री ने इस योजना की शुरुआत 8 अप्रैल 2015 को की.इसके तहत मुद्रा बैंक छोटे एंटरप्रेन्‍योर्स को 10 लाख रुपये तक का क्रेडिट देतीहै और माइक्रो फाइनेंस इंस्‍ट‍िट्यूसंश के लिए रेगुलेटरी बॉडी की तरह काम करती है.
13) प्रधानमंत्री जीवन ज्‍योति बीमा योजना- इसकी शुरुआत 9 मई 2015 को हुई यह सरकार के सहयोग से चलने वाली जीवन बीमा योजना है.इसमें 18 साल से 50 साल तक के भारतीय नागरिक को 2 लाख रुपये का बीमा कवर सिर्फ 330 रुपये के सलाना प्रीमियम में दिया जाता हैं यह बीमा कवर को आम जनता की पहुंच में लाने का प्रयास है।
14) प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना- इसकी शुरुआत भी 9 मई 2015 को ही की गई थी. इसमें 18 से 70 साल की उम्र के नागरिक की दुर्घटनावश मृत्‍यु या पूर्ण विकलांगता की स्‍थि‍ति में 2 लाख का कवर दिया जाता है. ये भी बीमा को आम जनता तक पहुचाने का एक प्रयास है।
15) कृषि‍ बीमा योजना- इसके तहत किसान अपनी फसल का बीमा करवा सकते हैं. यदि मौमस के प्रकोप से या किसी अन्‍य कारण से फसल को नुकसान पहुंचता है तो यह योजना किसानों की भरपाई करने में मदद करती है.
16)प्रधानमंत्री ग्राम सिंचाई योजना- इसके तहत देश की सभी कृषि‍ योग्‍य भूमि को सिंचित करने का लक्ष्‍य है.
17) - सॉइल  हेल्‍थ कार्ड स्‍कीम– सरकार इसके तहत किसानों को उनकी कृषि‍ भूमि की उर्वरकता के आधार पर स्‍वायल हेल्‍थ कार्ड जारी करती है.ताकि वो अपनी भूमि के आधार पर सही उर्वरक का चयन कर अपने धन की बर्बादी को रोक सके और अधिक पैदावार प्राप्त कर सके।
18) इंद्रधनुष- इस योजना का उद्देश्‍य बच्‍चों में रोग-प्रतिरक्षण की प्रक्रिया को तेज गति देना है.इसमें 2020 तक बच्‍चों को सात बीमारियों- डिप्थीरिया, काली खांसी, टिटनेस, पोलियो, टीबी, खसरा और हेपेटाइटिस बी से लड़ने के लिए वैक्‍सनेशन की व्‍यवस्‍था की गई है. इसे 25 दिसंबर 2014 लॉन्‍च किया गया था ।
19) दीन दयाल उपाध्‍याय ग्राम ज्‍योति योजना- भारत के गांवों को 24X7 बिजली आपूर्ति लक्ष्‍य करते हुए इस योजना की शुरुआत की गई है.इसके तहत देश के हर गाँव ताज बिजली पहुचाने का लक्ष्य है।
20) प्रधानमंत्री आवास योजना- भारत सरकार की योजना सबके लिए 2022 तक घर मुहैया कराने के उद्देश्य से शुरू की गई है इस स्कीम के तहत पहला घर बनाने या खरीदने के लिए होम लोन पर ब्याज सब्सिडी का फायदा उठाया जा सकता है. होम लोन के ब्याज पर 2.60 लाख रुपए का फायदा कमजोर आय वर्ग के लोग उठा सकते हैं.इस स्कीम को 31 मार्च 2019 तक बढ़ा दिया है. 
सरकार की योजनाओ को आम जनता तक पहुंचाने में सहयोग करे ताकि उनका लाभ जरुरतमंद तक पहुंच सके। 
आओ मिलकर साथ चले राष्ट्रनिर्माण में अपना सहयोग दे।

Comments

Popular Posts

कर्मचारी भविष्य निधि, EPF नियम

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन सरकारी और गैरसरकारी दोनों कर्मचारियों के भविष्य को सुनिश्चित करने के उदेश्य से बना एक संगठन है।
कर्मचारी भविष्य निधि संगठन की स्थापना 15 नवम्बर,1951 को कारखानों और अन्य संस्थानों में कार्यरत संगठित क्षेत्र के कर्मचारियों के हितों की रक्षा के लिए की गयी थी | कर्मचारी भविष्य निधि कार्यालय के पास उन सभी कार्यालयों और कारखानों को रजिस्टर करना पड़ता है जहाँ पर 20 से अधिक कर्मचारी काम करते हैं |  तथा आज के समय मे अगर आपका बेसिक 15000 से कम है तो EPF में शामिल होना अनिवार्य है। जब भी आप किसी  ऐसी संस्था में काम करते है जो EPFO के साथ पंजीकृत है | और आपकी तनख्वाह 15000 से कम है तब आपकी तनख्वाह का 12% काट कर epf में जमा किया जाता है, और साथ ही आपकी तनख्वाह का 12% जिस कंपनी या संस्था में आप काम करते हैं उनको  EPFO में जमा कराना पड़ता है | मगर यहाँ पर एक बात गौर करने वाली है की आपकी तनख्वाह से कटा हुआ 12% तो पूरा आपके EPF खाते में चला जाता है | लेकिन आपके कंपनी द्वारा 3.67% EPF में और 8.33% EPS (Employee Pension Scheme) में चला जाता है | और माना यदि आपकी बेसिक 10000 है तो…

क्या आप अपने क्षेत्र की समस्याओ का निवारण चाहते है तो जरूर पढ़े।

अगर आप युवा है और आप अपने क्षेत्र की समस्यों का निवारण चाहते है तो ये आपके लिए है। हम अक्सर गली मोहल्लों और चौराहों  लोगो को देश और समाज की समस्याओं के लिये नेताओ और प्रसाशन को कोसते देखते है। मगर कभी परिवर्तन के लिये कोई प्रयास नही करते । क्योकि शायद सिर्फ बाते बनाना हमारे लिये आसान होता है। मगर देश मे युवाओ से सिर्फ बातो की आशा नही की जा सकती युवा इस देश के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते है। कभी कभी कुछ समस्यओं का समाधान इसलिये नही हो पाता के   वो उचित अधिकारी तक पहुँच ही नही पातीअगर सभी युवा मिलकर क्षेत्र की समस्याओ के समाधान के लिये कार्य करे तो क्षेत्र को विकास के पथ पर अग्रसर कर सकते है।
इसके लिये सरकार द्वारा कई ऑनलाइन पोर्टल बनाये गए है जहाँ पर आप अपने क्षेत्र की समस्या को सरकार और प्रसाशन तक पहुँचा सकते है। और अपने देश का सजग नागरिक होने का परिचय भी दे सकते है उनमें से ही एक तरीका है समाधान पोर्टल आज हु उत्तराखंड सरकार के समाधान पोर्टल पर अपने क्षेत्र की समस्याओं के समाधान का तरीका बताएगे।
 सबसे पहले उत्तराखंड के समाधान पोर्टल पर जाय।
http://samadhan.uk.gov.in/home.aspx
उस…

राष्ट्रनिर्माण में युवाओ के योगदान की जरुरत

युवा किसी भी देश का भविष्य है। भारत एक ऐसा देश है जहाँ 65 % आबादी 35 वर्ष से कम है। तो आप समझ सकते है कि इस देश के लिये युवाओं का सही दिशा में कार्ये करना कितना महत्वपूर्ण है। हमारी सरकारें भी इस बात से भली भांति परिचित है। सरकार का ध्यान भी इस और केंद्रित है कि कैसे युवाओ को आगे लाकर देश को विकास के पथ पर अग्रसर किया जाये। सरकार द्वारा पेश की गई राष्ट्रीय युवा नीति-2014 का उद्देश्य “युवाओं की क्षमताओं को पहचानना और उसके अनुसार उन्हें अवसर प्रदान कर उन्हें सशक्त बनाना और इसके माध्यम से विश्वभर में भारत को उसका सही स्थान दिलाना है।" ज़िम्मेदार नागरिक के गुण और स्वयंसेवा की भावना उत्पन्न करने के उद्देश्य से युवा मामले विभाग ने विभिन्न कार्यक्रमों को कार्यान्वयित किया है।  भारत सरकार शिक्षा , स्वास्थ्य, कौशल विकास और नियोजन के क्षेत्र में युवा विकास पर लगभग 37,000 करोड़ रु और  इसके अतिरिक्त 55,000 करोड़ रु अन्य योजनाओं पर जिनका अधिकतर लाभार्थी युवा होता पर खर्च करती है। जो कुल मिलाकर लगभग 90,000 करोड़ होता है। अब हम युवाओ की भी जिम्मेदारी बनती है के हम भी राष्ट्रनिर्माण में अपनी भूमिका सु…

National health policy scheme , modicare

National health policy scheme , modicare
एक आम आदमी के जीवन मे सबसे बड़ी समस्या है बीमारियों पर होने वाला खर्च जससे देश का हर इंसान परेशान है और एक गरीब इंसान के लिये तो आज के महंगे इलाज के दौर में बहुत ज्यादा मुसीबत है कभी कभी लोगो के घर तक बिक जाते है इस समस्या के समाधान के लिये भारत सरकार देश की गरीब जनता के लिये एक योजना लेकर आई है।भारत सरकार ने 2018 का बजट संसद में पेश किया वित्तमंत्री ने आयुष्मान भारत के अंतर्गत National health policy scheme (NHPS) की घोषणा की जो शायद हेल्थ सेक्टर की  आज तक सबसे बड़ी और महत्वकांक्षी योजना है। जिसका सीधे सीधे 10 करोड़ परिवारों या कहे के लगभग 50 करोड़ लोगों को फायदा मिल सकता है। जिसमे प्रतिवर्ष सरकार का लगभग 1100 करोड़ खर्च होने का अनुमान है।  National health policy scheme (NHPS) विश्व की सबसे बड़ी योजना होगी  अभी तक सरकार राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत गरीब परिवारों को 30000  का इसयोरांस देती थीं । लेकिन इस नई स्कीम के तहत एक वयक्ति को 5 लाख का कवर दिया जाएगा। यह योजना एक तरह का इंसोरेंस होगी यानी योजना का लाभ उठाने वाले लोगो का इन्श्योरेंस किया जा…

Sukanya Samriddhi Yojana बेटी का सुरक्षित भविष्य और Income tax छूट

अगर आपके बेटी है तो आप Sukanya Samriddhi Yojana के तहत निवेश कर उसका भविष्य सुरक्षित करने के साथ अपने Income tax में भी 80C के तहत छूट पा सकते है। हम जानते ही है हमारे देश मे बेटियों की स्तिथि बहुत अच्छी नही है सरकार ने हमारे देश में बेटियों के हालात में सुधार लाने के लिए Sukanya Samriddhi Yojana को प्रस्तुत किया था जो देश मे चलने वाले बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का ही एक भाग है| Sukanya Samriddhi  Scheme Details में जानकारी आप इस artical के माध्य्म से प्राप्त कर सकते है। Sukanya Samriddhi Yojana Details In Hindi (सुकन्या योजना ) Sukanya Samriddhi Yojana को भारत सरकार  ने 21st जनवरी 2015 को launch किया था। इस योजना का मुख्य उद्देश्य Beti Bachao Beti Padhao campaign के अंतर्गत बेटियो को ऊंची पढ़ाई के लिए और शादी के बड़े खर्चो के लिए धन जोड़ने में मदद करना  है इसके  लिये  सरकार ने यह स्कीम लॉन्च की थी| Sukanya Samriddhi Yojana Feature  1. Sukanya Samriddhi Yojana  के तहत सिर्फ बेटियो के मातापिता ही अपनी बेटियों का खाता खुलवा सकते है | 2. जिसके अंतर्गत आप अधिकतम 2 बेटियों का खाता खुला सकते है। 3. सुकन्या …