Skip to main content

Sukanya Samriddhi Yojana बेटी का सुरक्षित भविष्य और Income tax छूट

अगर आपके बेटी है तो आप Sukanya Samriddhi Yojana के तहत निवेश कर उसका भविष्य सुरक्षित करने के साथ अपने Income tax में भी 80C के तहत छूट पा सकते है।
हम जानते ही है हमारे देश मे बेटियों की स्तिथि बहुत अच्छी नही है सरकार ने हमारे देश में बेटियों के हालात में सुधार लाने के लिए Sukanya Samriddhi Yojana को प्रस्तुत किया था जो देश मे चलने वाले बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का ही एक भाग है| Sukanya Samriddhi  Scheme Details में जानकारी आप इस artical के माध्य्म से प्राप्त कर सकते है।
Sukanya Samriddhi Yojana Details In Hindi (सुकन्या योजना )
Sukanya Samriddhi Yojana को भारत सरकार  ने 21st जनवरी 2015 को launch किया था। इस योजना का मुख्य उद्देश्य Beti Bachao Beti Padhao campaign के अंतर्गत बेटियो को ऊंची पढ़ाई के लिए और शादी के बड़े खर्चो के लिए धन जोड़ने में मदद करना  है इसके  लिये  सरकार ने यह स्कीम लॉन्च की थी|
Sukanya Samriddhi Yojana Feature 
1. Sukanya Samriddhi Yojana  के तहत सिर्फ बेटियो के मातापिता ही अपनी बेटियों का खाता खुलवा सकते है |
2. जिसके अंतर्गत आप अधिकतम 2 बेटियों का खाता खुला सकते है।
3. सुकन्या समृद्धि योजना के लिये आपको पोस्ट आफिस या बैंक में खाता खुलवाना होता है।
4. आपकी बेटी के 14 साल की उम्र होने तक आपको खाते में पैसे जमा करने पड़ते है और 21 साल की उम्र  हो जाने पर खाते की maturity हो जाती है।
5. परन्तु बेटी की 18 वर्ष की उम्र होने के बाद उसकी higher education या शादी के लिये आप आधा पैसा निकाल सकते है।
6.  21 साल की उम्र पूरी होने पर पूरा पैसा मिल जाता है।
7. आपको इस योजना में जमा किये गए रुपयो पर income tax की 80 C अनुसार छूट मिलती है।
8. इस योजना की सबसे बड़ी खासियत है इसकी ब्याज दर।इस योजना के तहत आपको काफी ज्यादा दर पर ब्याज मिलता है।
9. Sukanya Samriddhi Yojana के लिए आपको एक वर्ष में न्यूनतम 1000 Rs. जमा करवाने होते है। आप इससे अधिकतम 150000 रु जमा करवा सकते है
Sukanya Samriddhi Yojana के लिए योग्यता -
इस स्कीम के लिए सिर्फ बेटियां के खाते ही खुल सकते है
साथ ही इसके अंतर्गत वही आवेदन कर सकते है जो हमारे देश की नागिरक हो और उस बेटी की उम्र 10 साल या उससे कम हो ।
इस योजना के तहत जिस भी बच्ची का एकाउंट ओपन किया गया है उस बेटी के माता पिता एवं gardian इस खाते की देखरेख करती है। इस खाते में transaction भी वही करते है।
how to apply for sukanya samriddhi account (Sukanya Samriddhi Yojana In Hindi) -
इस योजना के लिए आप बैंक या पोस्ट आफिस में आवेदन कर सकते है। हमारे देश मे बैंक आज भी छोटे गाँवो तक अभी भी नही पहुची है। तो इस वजह स गवर्नमेंट में इस योजना के लिए बैंक और पोस्ट आफिस दोनो इस योजना के लिए चुने गए है। आप इस योजना के लिए आवेदन कर सकते है।
इस योजना के लिए अपनी बेटी का खाता बैंक या पोस्ट आफिस में खुलवा सकते है।
पहले आप अपनी नजदीकी बैंक या पोस्ट ओफिस में जाइए।
वहाँ आपको इस योजना के लिए एक फॉर्म दिया जाएगा जिसमे आपको अपनी details भरनी है। वह फॉर्म वहां जमा करवाना होगा। इसके साथ आपको कुछ डॉक्यूमेंट भी जमा करवाने होंगे।
डाक्यूमेंट्स और फॉर्म की details वेरीफाई होने के बाद खाता खोल दिया जाएगा
इसके बाद आपको वहां पैसे जमा करवाने होंगे। आपका खाता ओपन हो गया है।
Documents required for sukanya samriddhi account -
1) आपकी बेटी का जन्म प्रमाणपत्र
2) Depositor का पहचान पत्र
– पैन कार्ड,
–  पासपोर्ट,
– राशन कार्ड,
– ड्राइविंग लाइसेंस,
3) Depositor के पते का प्रमाण
– पैन कार्ड,
– राशन कार्ड,
– बिजली का बिल,
– टेलीफोन बिल
Sukanya Samriddhi Yojana Interest Rate-
जब इस योजना को लांच किया था तब इस योजना के अंतर्गत 9.1% 2015-16 में मिलता था। अब इस योजना के तहत 8.61% ब्याज दर दिया जाता है।
Sukanya Samriddhi Yojana Interest calculator -
इस  योजना के तहत interest वार्षिक रूप में कंपाउंड  जोड़ा जाता है उदहारण के लिए शीट दे रहे है जिसमे बच्चे की खाता खोलने की उम्र 5 वर्ष और मासिक जमा राशि 1000 रू मानी गयी है 

अधिक से अधिक लोगो तक जानकारी का लाभ पहुंचाने के लिए शेयर जरूर करे
आओ मिलकर साथ चले राष्ट्रनिर्माण में अपना सहयोग दे।

Comments

Popular Posts

कर्मचारी भविष्य निधि, EPF नियम

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन सरकारी और गैरसरकारी दोनों कर्मचारियों के भविष्य को सुनिश्चित करने के उदेश्य से बना एक संगठन है।
कर्मचारी भविष्य निधि संगठन की स्थापना 15 नवम्बर,1951 को कारखानों और अन्य संस्थानों में कार्यरत संगठित क्षेत्र के कर्मचारियों के हितों की रक्षा के लिए की गयी थी | कर्मचारी भविष्य निधि कार्यालय के पास उन सभी कार्यालयों और कारखानों को रजिस्टर करना पड़ता है जहाँ पर 20 से अधिक कर्मचारी काम करते हैं |  तथा आज के समय मे अगर आपका बेसिक 15000 से कम है तो EPF में शामिल होना अनिवार्य है। जब भी आप किसी  ऐसी संस्था में काम करते है जो EPFO के साथ पंजीकृत है | और आपकी तनख्वाह 15000 से कम है तब आपकी तनख्वाह का 12% काट कर epf में जमा किया जाता है, और साथ ही आपकी तनख्वाह का 12% जिस कंपनी या संस्था में आप काम करते हैं उनको  EPFO में जमा कराना पड़ता है | मगर यहाँ पर एक बात गौर करने वाली है की आपकी तनख्वाह से कटा हुआ 12% तो पूरा आपके EPF खाते में चला जाता है | लेकिन आपके कंपनी द्वारा 3.67% EPF में और 8.33% EPS (Employee Pension Scheme) में चला जाता है | और माना यदि आपकी बेसिक 10000 है तो…

क्या आप अपने क्षेत्र की समस्याओ का निवारण चाहते है तो जरूर पढ़े।

अगर आप युवा है और आप अपने क्षेत्र की समस्यों का निवारण चाहते है तो ये आपके लिए है। हम अक्सर गली मोहल्लों और चौराहों  लोगो को देश और समाज की समस्याओं के लिये नेताओ और प्रसाशन को कोसते देखते है। मगर कभी परिवर्तन के लिये कोई प्रयास नही करते । क्योकि शायद सिर्फ बाते बनाना हमारे लिये आसान होता है। मगर देश मे युवाओ से सिर्फ बातो की आशा नही की जा सकती युवा इस देश के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते है। कभी कभी कुछ समस्यओं का समाधान इसलिये नही हो पाता के   वो उचित अधिकारी तक पहुँच ही नही पातीअगर सभी युवा मिलकर क्षेत्र की समस्याओ के समाधान के लिये कार्य करे तो क्षेत्र को विकास के पथ पर अग्रसर कर सकते है।
इसके लिये सरकार द्वारा कई ऑनलाइन पोर्टल बनाये गए है जहाँ पर आप अपने क्षेत्र की समस्या को सरकार और प्रसाशन तक पहुँचा सकते है। और अपने देश का सजग नागरिक होने का परिचय भी दे सकते है उनमें से ही एक तरीका है समाधान पोर्टल आज हु उत्तराखंड सरकार के समाधान पोर्टल पर अपने क्षेत्र की समस्याओं के समाधान का तरीका बताएगे।
 सबसे पहले उत्तराखंड के समाधान पोर्टल पर जाय।
http://samadhan.uk.gov.in/home.aspx
उस…

राष्ट्रनिर्माण में युवाओ के योगदान की जरुरत

युवा किसी भी देश का भविष्य है। भारत एक ऐसा देश है जहाँ 65 % आबादी 35 वर्ष से कम है। तो आप समझ सकते है कि इस देश के लिये युवाओं का सही दिशा में कार्ये करना कितना महत्वपूर्ण है। हमारी सरकारें भी इस बात से भली भांति परिचित है। सरकार का ध्यान भी इस और केंद्रित है कि कैसे युवाओ को आगे लाकर देश को विकास के पथ पर अग्रसर किया जाये। सरकार द्वारा पेश की गई राष्ट्रीय युवा नीति-2014 का उद्देश्य “युवाओं की क्षमताओं को पहचानना और उसके अनुसार उन्हें अवसर प्रदान कर उन्हें सशक्त बनाना और इसके माध्यम से विश्वभर में भारत को उसका सही स्थान दिलाना है।" ज़िम्मेदार नागरिक के गुण और स्वयंसेवा की भावना उत्पन्न करने के उद्देश्य से युवा मामले विभाग ने विभिन्न कार्यक्रमों को कार्यान्वयित किया है।  भारत सरकार शिक्षा , स्वास्थ्य, कौशल विकास और नियोजन के क्षेत्र में युवा विकास पर लगभग 37,000 करोड़ रु और  इसके अतिरिक्त 55,000 करोड़ रु अन्य योजनाओं पर जिनका अधिकतर लाभार्थी युवा होता पर खर्च करती है। जो कुल मिलाकर लगभग 90,000 करोड़ होता है। अब हम युवाओ की भी जिम्मेदारी बनती है के हम भी राष्ट्रनिर्माण में अपनी भूमिका सु…

National health policy scheme , modicare

National health policy scheme , modicare
एक आम आदमी के जीवन मे सबसे बड़ी समस्या है बीमारियों पर होने वाला खर्च जससे देश का हर इंसान परेशान है और एक गरीब इंसान के लिये तो आज के महंगे इलाज के दौर में बहुत ज्यादा मुसीबत है कभी कभी लोगो के घर तक बिक जाते है इस समस्या के समाधान के लिये भारत सरकार देश की गरीब जनता के लिये एक योजना लेकर आई है।भारत सरकार ने 2018 का बजट संसद में पेश किया वित्तमंत्री ने आयुष्मान भारत के अंतर्गत National health policy scheme (NHPS) की घोषणा की जो शायद हेल्थ सेक्टर की  आज तक सबसे बड़ी और महत्वकांक्षी योजना है। जिसका सीधे सीधे 10 करोड़ परिवारों या कहे के लगभग 50 करोड़ लोगों को फायदा मिल सकता है। जिसमे प्रतिवर्ष सरकार का लगभग 1100 करोड़ खर्च होने का अनुमान है।  National health policy scheme (NHPS) विश्व की सबसे बड़ी योजना होगी  अभी तक सरकार राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत गरीब परिवारों को 30000  का इसयोरांस देती थीं । लेकिन इस नई स्कीम के तहत एक वयक्ति को 5 लाख का कवर दिया जाएगा। यह योजना एक तरह का इंसोरेंस होगी यानी योजना का लाभ उठाने वाले लोगो का इन्श्योरेंस किया जा…

भारत सरकार की मुख्य योजनाये

भारत सरकार के द्वारा देश मे देश के विकास और नागरिको के हितों की रक्षा के लिये अनेक योजनाये  चलायी गयी है । देश के नागरिकों को उन योजनाओं को जानकर उनमे अपनी भागीदारी सुनिश्चित करनी चाहिये। तथा उनका लाभ लेकर देश के विकास में अपना सहयोग करना चाहिय साथ ही इस बात का भी ध्यान रखना चाहिय के कोई गैर पत्र व्यक्ति इन योजनाओं का दुरुपयोग तो नही कर रहा साथ ही योजनाओ के लाभ को जरूरत मंद व्यक्ति तक पहुंचने की जिम्मेदारी सरकार के साथ देश के सभी नागरिकों की भी है। आओ जानते है  कुछ जरूरी योजनाओ के बारे में -
1) स्वच्छ भारत अभियान- प्रधानमंत्री ने 24 सितंबर 2014 को स्वच्छ भारत अभियान को मंजूरी दी , स्वच्छ भारत अभियान को औपचारिक रुप से महात्मा गांधी जी की जयंती पर 2 अक्टूबर 2014 को शुरू किया गया.इसके तहत 2019 तक यानी महात्मा गांधी की 150वीं जयंती तक भारत को स्वच्छ बनाने का लक्ष्‍य किया गया है. जिसमे देश को खुले में शौच मुक्त करना और हर घर मे अपना शौचालय मुख्य लक्ष्य है। साथ ही सार्वजनिक स्थानों और अन्य स्थलों पर स्वच्छ्ता भी इसका एक हिस्सा है।
2) प्रधानमंत्री जन धन योजना — प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 28 …