राष्ट्रनिर्माण में युवाओ के योगदान की जरुरत

युवा किसी भी देश का भविष्य है। भारत एक ऐसा देश है जहाँ 65 % आबादी 35 वर्ष से कम है। तो आप समझ सकते है कि इस देश के लिये युवाओं का सही द...

National health policy scheme , modicare

National health policy scheme , modicare,
"आयुष्मान भारत-प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना"
एक आम आदमी के जीवन मे सबसे बड़ी समस्या है बीमारियों पर होने वाला खर्च जससे देश का हर इंसान परेशान है और एक गरीब इंसान के लिये तो आज के महंगे इलाज के दौर में बहुत ज्यादा मुसीबत है कभी कभी लोगो के घर तक बिक जाते है इस समस्या के समाधान के लिये भारत सरकार देश की गरीब जनता के लिये एक योजना लेकर आई है।
भारत सरकार ने 2018 का बजट संसद में पेश किया वित्तमंत्री ने आयुष्मान भारत के अंतर्गत National health policy scheme (NHPS) की घोषणा की जो शायद हेल्थ सेक्टर की  आज तक सबसे बड़ी और महत्वकांक्षी योजना है। जिसका सीधे सीधे 10 करोड़ परिवारों या कहे के लगभग 50 करोड़ लोगों को फायदा मिल सकता है। जिसमे प्रतिवर्ष सरकार का लगभग 1100 करोड़ खर्च होने का अनुमान है। 
National health policy scheme (NHPS) विश्व की सबसे बड़ी योजना होगी  अभी तक सरकार राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत गरीब परिवारों को 30000  का इसयोरांस देती थीं ।
लेकिन इस नई स्कीम के तहत एक वयक्ति को 5 लाख का कवर दिया जाएगा। यह योजना एक तरह का इंसोरेंस होगी यानी योजना का लाभ उठाने वाले लोगो का इन्श्योरेंस किया जायेगा और उनका कैश लेस इलाज होगा। इसके लिये चुनिंदा अस्पतालों में लोग कैश लेस इलाज करवा सकेंगे।
यह योजना आने वाले वित्तीय वर्ष यानी 1 अप्रैल 2018 से लागू हो जाएगी। जिसके तहत गरीब परिवार के लोगो का 5 लाख तक का इलाज का खर्च भारत सरकार उठाएगी।
इस योजना के तहत इलाज सिर्फ सरकारी अस्पतालों तक ही सीमित नही रहेगा बल्कि सरकार इसमें प्राइवेट अस्पतालों को भी जोड़ रही है ताकि मरीज को ज्यादा अच्छी सुविधा और लाभ मिल सके।

इस तरह की एक योजना अमेरिका में बराक ओबामा ने शुरू की थी जिसका नाम ओबामा केअर रखा गया था उसी तर्ज पर लोग अब इसे modicare भी कह रहे है। 

साथ ही भारत सरकार देशभर में 1.5लाख से ज्यादा हेल्थ और वेलनेस सेंटर खोलने की योजना भी है जहाँ जरूरी दावा और जाँच की सुविधाएं मुफ्त में उपलब्ध कराई जाएगी। सरकार इन केंद्रों को चलाने के लिये कॉरपोरेट का भी सहयोग लेने का प्रयास कर रही है।
इसके अतिरिक्त देश मे सरकार बच्चो के टीकाकरण के लिये मिशन इन्द्रधनुष और सस्ती कीमत पर दवाई उपलब्ध कराने के लिये प्रधानमंत्री भारतीय जन औषधि परियोजना भी देश मे चलती है ये योजनाये देश मे पहले से चल रही है।
अगर ये सब योजनाये (health policy) आने वाले समय मे अच्छे से लागू होकर सही से चले तो गरीब इंसान के लिये बहुत बड़ी राहत की बात होगी।
National health policy scheme , modicare
मा0 प्रधानमंत्री जी द्वारा प्रारम्भ की गयी "आयुष्मान भारत-प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना" जिसके अन्तर्गत उत्तराखंड प्रदेश के लगभग 5 लाख परिवारों को गम्भीर बीमारी के ईलाज हेतु प्रतिवर्ष 5 लाख रूपये तक की निःशुल्क चिकित्सा सुविधा उपलब्ध करायी जा रही है। मा0 प्रधानमंत्री जी की योजना को और आगे बढाते हुये प्रदेश सरकार द्वारा "अटल आयुष्मान  उत्तराखण्ड योजना"  प्रारम्भ करते हुये लगभग 18 लाख और परिवारों को भी प्रतिवर्ष 5 लाख रूपये की निःशुल्क चिकित्सा सुविधा उपलब्ध करायी जायेगी। इस प्रकार उत्तराखण्ड राज्य के समस्त 23 लाख परिवारों को सामान्य एवं गम्भीर बीमारी के ईलाज हेतु निःशुल्क चिकित्सा सुविधा प्राप्त हो सकेगी।

यह सुविधा राज्य के सरकारी चिकित्सालयों (जिसमें समस्त सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र, जिला चिकित्सालय, संयुक्त चिकित्सालय एवं बेस चिकित्सालय सम्मिलित है) एवं सूचीब़द्ध निजी चिकित्सालयों में (रैफर करने के आधार पर) प्रदान की जायेगी। इमरजेन्सी में सूचीबद्ध निजी चिकित्सालयों में बिना रैफर किये भी उपचार कराया जा सकता है। यह योजना पूर्णतः कैशलैस एवं पेपरलैस है।
इसके लिए उत्तराखंड के नागरिक ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कर सकते है 
Ankush chauhan blog

No comments:

Post a Comment

Popular Posts